Dr. Salim Ansari इसबार बगोदर विधानसभा की यही है मांग

इसी नारे से पूरे बगोदर मे एक नई उम्मीद उठी हुई है बगोदर की जनता से जब हमारे टीम ने बात की तो यहाँ के जनता ने बताया की इस बार बगोदर मे बदलाव होगी, हम 30 सालों से ये उम्मीद मे थे की हमारे नेतृत्व के लिए कोई आए जो हमारे लिए आवाज उठाए और इस ताना शाही और परिवारवाद से बगोदर के जनता को बाहर करे जो की अब कही न कही ये लग रहा की डॉ सलीम अंसारी के आने से यहाँ बदलाव होगा क्यों की डॉ सलीम अंसारी साहब हर धर्म और जाति के लिए हमेशा खड़े रहते हैं उनका धर्म ही सेवा का है, इसी कारणों से बगोदर की जनता उनसे बहुत उम्मीद लगाए हुए हैं।

dr salim ansari bagodar vidhansabha

क्यों जरूरी है बगोदर विधानसभा मे बदलाव

हमारी टीम से बात करते हुए बगोदर की जनता ने बताया की झारखंड अलग राज्य बनने के बाद अब तक पूरे झारखंड राज्य में हर दल कि सत्ता में परिवारवाद शुरू हो गया और इस परिवारवादी सत्ता का उधारण बगोदर विधानसभा को कह सकते है और झारखंड के लगभग लगभग विधानसभा और लोकसभा का यही हाल है. वैसे ही बगोदर विधानसभा भी एक ही परिवार के 30 सालों से बगोदर विधानसभा मे राज करते आ रही है। बगोदर विधानसभा मे 95% पिछड़े वर्ग और अति पिछड़े वर्ग की आबादी है, पर बगोदर विधानसभा के नेतृत्व वो कर रहे है जिनकी आबादी पूरे बगोदर विधानसभा मे सिर्फ 5% है।

dr salim ansari bagodar vishan sabha
बगोदर विधानसभा अंतर्गत वार्ता करते डॉ सलीम अंसारी साहब

जनता का कहना है यहाँ कि जनता है बेहाल

ब्लॉक हो या अंचल यहाँ अधिकारियोंं की मनमानी और रिश्वत खोरी चरम पर है।

आए दिन बगोदर की सड़को पर अवैध पत्थर लदे हाईवा से लोगो की सड़क दुर्घटना मे जान जाती है, आए दिन चोरी की घटना सामने आती है, अवैध नकली दारू के ठेके मिलते रहते हैं।

इतने अपराधिक घटना बगोदर मे घटती है तब भी यहाँ के सत्ता धारी विधायक जी को इन सब बातो से फर्क नही पड़ता।
हमारी टीम ने बगोदर के कई गांव मे यहाँ के विधायक के प्रति आक्रोश देखा और सभो का यही कहना था की अब यहाँ बदलाव होना बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़े:

मोमिन कॉन्फ्रेंस ने देश के विभाजन का क्यों विरोध किया? निम्न जाति के मुसलमानों ने पाकिस्तान निर्माण का विरोध क्यों किया?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version