डॉ. सलीम अंसारी और इनकी पत्नी जिप सदस्य साजदा खातून को इसलिए कहा जाता है गरीबों के मसीहा

जैसा की आप सभो को जानकारी है कि ईद आ रही है और ईद को खुशियों से भरा तैयहार कहा जाता है। बिरनी मध्य जोन के जिप सदस्य साजदा खातून जी और डॉ. सलीम अंसारी जी ईद का तैयहार गरीबों मस्किनो यतीमों का अच्छा से ईद गुजरे इसके लिए दोनों परिवार लगातार बगोदर के गरीबों यतीमों के पास पहुँच कर उन्हें मदद कर रहे हैं।

saajda khatoon birni jila parishad

बिरनी: बगोदर विधानसभा अंतर्गत आने वाला बिरनी प्रखंड के तोको गाँव जाकर डॉ. सलीम अंसारी और उनकी पत्नी जिला परिषद् सदस्य साजदा खातून अपने समर्थकों के साथ सभी ग्रामीणों का हाल चाल पूछा और गरीब जरुरत मंदों के बिच सवई और कपड़ा का वितरण किए।

उन्होंने चिंता जताई कि आज भी तोको गाँव वासी मुल भुत सुविधा से वंचित है।

डॉ. सलीम अंसारी और इनकी पत्नी जिप सदस्य साजदा खातून को इसलिए कहा जाता है गरीबों के मसीहा

जिला परिषद सदस्य साजदा खातून गरीबों यतीमों को मदद करते हुए

जिला परिषद् सदस्य साजदा खातून से मिलने के लिए सैकड़ों बुजुर्ग, बच्चे और महिलाए कि भीड़ उमड़ पड़ी। वही जिप सदस्य साजदा खातून ने एक विकलांग से मिलने पर फैरन चावल राशन और कपड़ा और कुछ सहयोग राशि देकर उनकी मदत किया।

बिरनी के चेचरा तोको गाँव में गई जिप सदस्य साजदा खातून और वहाँ के ज़रूरत मंदों को आर्थिक मदद कि जिससे उनका ईद का तैयहार अच्छे से गुजरे। साजदा खातून और डॉ. सलीम अंसारी कि इन प्रयासों को सभी लोगों ने सरहाना किया और बुगुर्गों ने दुआ और आशीर्वाद दिया।

यह भी पढ़े:

स्वतंत्रता सेनानी ‘शहीद शेख़ भिखारी अंसारी’ के बलिदान क्यों भारत के लिए अहम है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *